No icon

केवेंटर एग्रो ने पश्चिम बंगाल में 9वें 'बल्क मिल्क कलेक्शन' सेंटर को लांच किया

कोलकाताः पूर्वी भारत में सबसे तेजी से बढ़ती खाद्य और पेय कंपनियों में से एक केवेंटर एग्रो ने पश्चिम बंगाल में अपने 9वें 'बल्क मिल्क कलेक्शन' (बीएमसी) को लांच करने की घोषणा की है। इसकी जानकारी देते हुए, केवेंटर एग्रो लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मयंक जालान ने कहा कि कोरोना महामारी ने हमारी पूरी जीवन शैली को बदल दिया है। ऐसे में पौष्टिक खाद्य का महत्व पहले से काफी बढ़ गया है। ऐसे में डेयरी उत्पादों की खपत में काफी वृद्धि हुई है। जालान का मानना है कि स्थिति सामान्य होने पर भी ऐसे उत्पादों की मांग इसी प्रकार की रहेगी। जालान ने कहा कि ऐसी स्थिति में कलेक्शन सेंटर का नेटवर्क होना एक अच्छा कदम होगा। 

केवेंटर एग्रो ने 1500 वर्ग फुट की इस नए 'बल्क मिल्क कलेक्शन' सेंटर को खड़गपुर के विद्यासागर इंडस्ट्रियल पार्क में लांच किया है। केवेंटर एग्रो के अब कुल 9 मिल्क कलेक्शन सेंटर पश्चिम बंगाल के पांच जिलों बर्दवान, हुगली, मेदनीपुर, उत्तर 24 परगना और नदिया में हैं। जहां दैनिक आधार पर 18 हजार किसान काम कर रहे हैं। राज्यभर में इन 9 बीएमसी को स्थापित करने में कंपनी ने 6 करोड़ रुपये से अधिक खर्च हुए।

वर्तमान में, कंपनी की खुद की दूध  प्रोक्योरमेंट क्षमता प्रति दिन 150,000 लीटर है। 80 लाख रूपये के लागत से खड़गपुर में बनी इस नए सुविधा के साथ यह क्षमता प्रति दिन 20,000 लीटर बढ़ने की उम्मीद है। 

पाउच मिल्क, यूएचटी मिल्क, फ्लेवर्ड मिल्क, लस्सी, दही और आइसक्रीम के साथ एक मजबूत डेयरी प्रोडक्ट पोर्टफोलियो रखने वाली, केवेंटर एग्रो वर्तमान में 250,000 लीटर से अधिक पाश्चुरीकृत दूध रोजाना प्रोसेस कर रही है। जबकि कंपनी की मौजूदा उत्पादन क्षमता प्रतिदिन 400,000 लीटर तक है।  मयंक जालान ने कहा कि 'अपने प्रति दिन 400,000 लीटर की उनकी समग्र उत्पादन क्षमता तक पहुंचने के उद्देश्य से, केवेंटर एग्रो अगले कुछ महीनों में  पश्चिम बंगाल में और भी 'बल्क मिल्क कलेक्शन' सेंटर लांच करेगी।' 

मयंक जालान ने कहा कि पिछले 25 वर्षों से हम इस उद्योग में हैं। ऐसे में हमने हर दिन अपने ग्राहकों को अच्छी गुणवत्ता वाले खाद्य उत्पाद प्रदान किए हैं। यह इस लिए संभव हो पाया है क्योंकि हमने हमेशा कृषक समुदाय के उत्थान और सशक्तिकरण का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के कलेक्शन सेंटर हमें किसानों के साथ जुड़ने का अवसर देते हैं और किसानों को आधुनिक कृषि तकनीकों को अपनाने के लिए प्रेरित करते हैं।

Comment